बरेली: बीएसए को पड़ी डांट… किसने कहा सीएम के लिए रंगोली बनवाओ, निरस्त हुआ आदेश

बरेली: सरकार ने तो महिलाओं को गौरव का एहसास कराने के लिए बरेली एयरपोर्ट से महिला दिवस पर उड़ानें शुरू करने का आदेश दिया लेकिन बीएसए के बेतुके फरमान से महिला शिक्षक की दिक्कत ही दिक्कत में फंस गई। बीएसए मिस यू के स्वागत के लिए सुबह 4:00 बजे एयरपोर्ट पहुंचकर रंगोली बनाने के लिए 15 शिक्षिकाओं की ड्यूटी लगा दी। यह आदेश वायरल होकर शासन तक पहुंच गया जिसकी बात डांट पड़ी तो उन्होंने आदेश निरस्त कर दिया।

एयरपोर्ट से 8 मार्च को पहली उड़ान के मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की बरेली आने की संभावना है। जिसकी तैयारियां भी की जा रही है। 4 मार्च को बीएसए विनय कुमार ने नगर और देहात की अलग-अलग स्कूलों की 15 शिक्षिकाओं को सुबह 4:00 बजे एयरपोर्ट पहुंचकर सीएम का मंच सजाने के साथ रंगोली बनाने का आदेश जारी कर दिया इसमें किसी कोताही पर सख्त कार्रवाई की चेतावनी भी दी गई।

बीएसए का यह आदेश शिक्षिकाओं को तो नवाचार गुजरा ही,कुछ शिक्षक नेताओं ने आलोचना करते हुए उसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। जिसका पहले उच्च अधिकारियों और फिर शासन ने भी संज्ञान ले लिया। शनिवार को शासन के अफसरों ने बीएसए की जमकर फटकार लगाई। शनिवार दोपहर बीएसए के आदेश को निरस्त कर दिया। बीएसए ने कहा कि उनसे चूक हो गई थी। उन्होंने आदेश निरस्त कर दिया है।