शिक्षामित्रों की हालत पर सरकार नहीं दे रही ध्यान

लखनऊ: उत्तर प्रदेश दूरस्थ बीटीसी शिक्षक संघ ने आरोप लगाया है कि प्रदेश सरकार के 4 साल के कार्यकाल के बाद भी शिक्षामित्रों की हालत जस की तस है। संघ के अध्यक्ष अनिल यादव ने कहा कि प्रदेश सरकार शिक्षामित्रों की समस्याओं के निस्तारण पर ध्यान नहीं दे रही है।

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने शिक्षामित्रों से किया गया एक भी वादा पूरा नहीं किया है। इससे शिक्षामित्र हताश है। उन्होंने कहा कि पंचायत चुनाव की ड्यूटी के दौरान संक्रमित होने से करीब 200 शिक्षामित्रों की मृत्यु हुई है। कहां की शिक्षा मित्र की आदत को भी 50 लाख रुपए मुआवजा और सरकारी नौकरी मिलनी चाहिए। सरकार को प्रदेश के विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कोरोना संक्रमित शिक्षामित्रों के भी इलाज का उचित प्रबंध करना चाहिए ‌