निरीक्षण के दौरान बंद मिले दो स्कूल , कई विद्यालयों पर हाजिरी बना गयाब मिले शिक्षक

महराजगंज।

बीएसए ओम प्रकाश यादव के निर्देश पर शनिवार को जिला समन्वयक एमडीएम/प्रशिक्षण शैलेन्द्र वर्मा व एसआरजी कृष्ण मोहन पटेल व सत्यप्रकाश वर्मा ने नौतनवा क्षेत्र के आठ परिषदीय विद्यालयों का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान दो स्कूल बंद मिले। कई विद्यालय पर हाजिरी बनाकर शिक्षक गायब मिले। कई स्कूलों पर एमडीएम का चूल्हा ठंडा मिला। निरीक्षण के दौरान कई शिक्षक ऐसे मिले जो बिना किसी पूर्व सूचना विद्यालय से अनुस्थित थे। जांच टीम ने निरीक्षण आख्या बीएसए को सौंप वेतन व मानदेय कटौती की संस्तुति कर दी है।

निरीक्षण के दौरान सुबह सवा नौ बजे प्राथमिक विद्यालय राजाबारी बंद मिला। प्रभारी प्रधानाध्यापक चन्द्र मोहन पटेल 17 फरवरी से बिना किसी सूचना अनुपस्थित मिले। सहायक अध्यापक राकेश कुमार चुनाव प्रशिक्षण में गये थे। दूसरे सहायक अध्यापक प्रदीप कुमार जायसवाल 18 फरवरी को एक मिटिंग का हस्ताक्षर बनाए थे। पर,शनिवार को अनुपस्थित मिले। संध्या श्रीवास्तव 1 फरवरी से ही बिना किसी पूर्व सूचना के अनुपस्थित मिलीं। जांच टीम ने सभी अनुपस्थिति अध्यापकों का फरवरी माह का वेतन बाधित करने की संस्तुति किया।

पूर्व माध्यमिक विद्यालय राजाबारी भी सुबह सवा नौ बजे बंद किया। प्रधानाध्यापक राधा कुमार नायक अनुपस्थित मिले। पूर्व माध्यमिक विद्यालय पिपरा सुबह 9:25 बजे खुला था। बच्चे पढ़ने आए थे लेकिन प्रभारी प्रधानाध्यापक अनुपस्थित मिले। रसोइया भी अनुपस्थित मिली। भोजन बनने की स्थिति का पता नही चल सका। यहां भी एक दिन की वेतन कटौती की संस्तुति की गई। प्राथमिक विद्यालय पिपरा में सहायक अध्यापक समसुल हक कंद्दूसी सुबह 9: 35 बजे उपस्थित हुए। शिक्षामित्र योगेन्द्र सिंह बिना किसी सूचना के अनुपस्थित मिले। विद्यालय पर रसोइया गैर हाजिर मिली। मध्यान्ह भोजन बनने का कोई पता नही चल सका। शौचायल साफ-सुथरा नही था। सहायक अध्यापक समसुल हक कंद्दूसी का 01 दिन का वेतन व शिक्षक योगन्द्र सिंह का फरवरी का मानदेय बाधित करने के लिए जांच टीम ने संस्तुति किया। कम्पोजिट विद्यालय देवघट्टी में शिक्षामित्र पूनम वर्मा 17 फरवरी से अनुपस्थित मिलीं। उनका फरवरी का मानदेय बाधित करने की संस्तुति किया गया। प्राथमिक विद्यालय नरायनपुर में शिक्षामित्र वेदवती पाठक 12 फरवरी से वह सहायक अध्यापक सोनू भारती 16 फरवरी से अनुपस्थित मिले। यहां चौदह फरवरी से एमडीएम नहीं बन रहा है। जनवरी माह का रजिस्टर भी नहीं मिला। आफिस में अव्यवस्था देखने को मिली। मैथकिट एवं लाइब्रेरी की पुस्तकों का रख-रखाव बहुत ही खराब मिला। इस पर टीम ने प्रधानाध्यापक इश्तेयाक अहमद , शिक्षामित्र वेदवती पाठक, सहायक अध्यापक सोनू भारती का फरवरी माह का मानदेय व वेतन रोकने की संस्तुति की गई। पूर्व माध्यमिक विद्यालय हरपुर खास में 04 बच्चे उपस्थित मिले। सहायक अध्यापक इन्द्र कमल हस्ताक्षर बनाकर गायब मिले। शौचालय क्रियाशील नही था। उसमें फाटक नही था। इस पर टीम ने शिक्षक इन्द्रकमल का माह फरवरी का वेतन बाधित करने की संस्तुति किया। प्राथमिक विद्यालय हरपुर खास में प्रभारी प्रधानाध्यापक अतुल कुमार उपाध्याय व शिक्षामित्र रामकृपाल भारती अनुपस्थित मिले। 14 फरवरी से एमडीएम नहीं बन रहा था। ब्लैक बोर्ड की स्थिति अत्यन्त ही खराब थी। रसोई घर में दरवाजा नहीं है। विद्यालय में साफ-सफाई नही थी। इस पर जांच टीम ने प्रभारी प्रधानाध्यापक अतुल कुमार उपाध्याय व शिक्षामित्र रामकृपाल का माह फरवरी का वेतन/मानदेय बाधित करने की संस्तुति किया।

कोट-

नौतनवा क्षेत्र के आठ परिषदीय विद्यालयों का औचक निरीक्षण किया गया। इसमें दो विद्यालय बंद मिले। कई स्कूल पर शिक्षक बिना किसी पूर्व सूचना गायब मिले। कई स्कूल पर एमडीएम नहीं बन रहा था। निरीक्षण आख्या बीएसए को सौंप दी गई है।

शैलेन्द्र वर्मा-जिला समन्वयक एमडीएम/प्रशिक्षण