रोजगार : आरईडी में जेई, एई और लिपिक के 1770 पदों पर नियुक्तियां जल्द

पदोन्नति का साफ होगा रास्ता

कार्मिक विभाग की नई नीति आने के बाद सबसे अधिक उन कर्मियों को फायदा होगा जो जांच में फंसे हुए हैं। इसके चलते उन्हें सालों से पदोन्नतियां नहीं मिल पा रही हैं। कभी-कभार तो ऐसी भी स्थिति आती है कि कनिष्ठ कर्मचारी पदोन्नति पा जाता है और वरिष्ठ जांच के नाम पर सालों पदोन्नति नहीं पाता है। कार्मिक विभाग के एक अधिकारी का कहना है कि नई नीति आने के बाद पदोन्नति के नियम पूरी तरह से साफ हो जाएंगे।

पदोन्नति में आने वाली बाधा होगी दूर

कार्मिक विभाग ने अपनी 100 दिन की कार्य योजना में इसे शामिल लिया गया है। नीति बनाने की दिशा में काम शुरू कर दिया गया है। इसमें यह निर्धारित किया जा रहा है कि पदोन्नति के लिए छोटे-मोटे दंडों के आधार पर पदोन्नति नहीं रोकी जाएगी। कुछ शर्तों के साथ राज्य कर्मी को पदोन्नति दे दी जाएगी। कार्मिक विभाग का मानना है कि प्रस्तावित मार्गदर्शी सिद्धांत के लागू होने के बाद विभागीय चयन समितियों द्वारा फैसला लेने में आसानी होगी।

विभाग ने छह माह की कार्ययोजना तैयार की

विभाग ने आगामी छह माह की जो कार्ययोजना तैयार की है। उसमें रोजगार सृजन को प्रमुखता से लिया गया है। लिखा गया है कि विभाग में रिक्त राजपत्रित/अराजपत्रित पदों तथा सीधी भर्ती के सहायक अभियंता, अवर अभियंता और लिपिक वर्ग के रिक्त पदों के लिए भेजे गए अधियाचन के सापेक्ष नियुक्ति कराए जाने का प्रयास तेज किया जाएगा। इस दौरान लिपिक वर्ग के रिक्त 30 पदों का अधियाचन भी आयोग को भेजा जाएगा। विभाग ने लिखा है कि रिक्त पदों पर नियुक्तियां हो जाने से रोजगार सृजन होगा और विभागीय कार्यक्षमता बढ़ेगी। नियुक्तियां हो जाने से विकास कार्यों में में तेजी आएगी जिससे आमजन को लाभ होगा।

●2018 से 2021 के बीच भेजे गए अधियाचनों पर नियुक्ति की तैयारी

लखनऊ, ग्रामीण अभियंत्रण विभाग(आरईडी) द्वारा वर्ष 2018 से 2021 के बीच उ.प्र. लोक सेवा आयोग और अधीनस्थ सेवा चयन आयोग को 1770 पदों पर भर्ती के लिए अधियाचन भेजने के बावजूद नियुक्तियां नहीं हो पाई हैं। आवेदकों के साथ ही विभाग भी भर्ती प्रक्रिया के आगे बढ़ने और पूरी होने का इंतजार कर रहा है। सरकार को भेजे गए कार्ययोजना में विभाग ने अगले छह महीने के अंदर अधियाचनों के सापेक्ष नियुक्तियां कराये जाने के प्रयास को प्रमुखता से शामिल किया है।

अधियाचनों में दिए गए पदों पर भर्तियां पूरी हो जाने पर ग्रामीण अभियंत्रण विभाग में बहुत हद तक अवर अभियंता, सहायक अभियंता और लिपिक संवर्ग के कार्मिकों की कमी दूर हो जाएगी।

अधियाचना भेजेंगे : विभाग ने 14 सितंबर 2018, 14 अक्तूबर 2020, 24 अक्तूबर 2020, 06 जून 2021 तथा 03 दिसंबर 2021 की तिथि में रिक्त पदों पर भर्ती के लिए अधियाचन लोक सेवा आयोग और अधीनस्थ सेवा चयन आयोग को भेजे हैं। जिनमें सहायक अभियंता के 62 पद, अवर अभियंता के 1694 पद तथा लिपिकीय संवर्ग के 14 पद शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.