मोदी सरकार ने आम लोगों को दी राहत, पेट्रोल ₹9 .50 पैसे और डीजल ₹7 हुआ सस्ता

लखनऊ,  Petrol Diesel Price Today शनिवार को सरकार ने जहां पेट्रोल और डीजल की कीमतों में आम आदमी को बड़ी राहत दी, वहीं सीएनजी और पीएनजी के दामों में बढ़ोतरी कर महंगाई का झटका दे दिया। सीएनजी जहां ₹2 महंगी हुई वही पीएनजी की दरों में पौने ₹3 की बढ़ोतरी हो गई। पेट्रोल की कीमत में ₹9.50 और डीजल सात रुपये की कमी आई है।

दाम घटाने पर योगी ने जताया आभार: भारत सरकार ने पेट्रोल पर आठ रुपये प्रति लीटर और डीजल पर छह रुपये प्रति लीटर केंद्रीय उत्पाद शुल्क की कमी कर दी है। साथ ही प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों को प्रति गैस सिलिंडर (12 सिलिंडर तक) 200 रुपये की सब्सिडी का निर्णय लिया है। इसके लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रति आभार व्यक्त किया है। योगी ने कहा कि सेंट्रल एक्साइज ड्यूटी में कमी किए जाने से पेट्रोल की कीमत 9.50 रुपये प्रति लीटर और डीजल के दाम में सात रुपये प्रति लीटर की कमी आएगी। इससे किसानों, गरीब परिवारों की महिलाओं सहित आमजन को बहुत राहत मिलेगी।

घरेलू गैस और पेट्रोल डीजल की लगातार बढ़ती कीमतों की मार झेल आम आदमी को एक्साइज ड्यूटी से काफी हद तक राहत मिली थी लेकिन देर शाम सीएनजी और पीएनजी की दरों ने एक बार फिर बोझ डाल दिया।लखनऊ सहित पांच शहरों में सीएनजी और पीएनजी की आपूर्ति करने वाली ग्रीन गैस लिमिटेड ने शनिवार शाम को सीएनजी की दरों में ₹2 की बढ़ोतरी कर दी इस तरह आप सीएनजी लखनऊ में ₹87 50 पैसे में मिलेगी वही पीएनजी अब 2:75 की बढ़ोतरी के साथ ₹49: 80 पैसे प्रति क्यूबिक स्टैंडर्ड मीटर मिलेगी।

आंकड़ों की बात करें तो गत दिसंबर से अब तक सीएनजी की दरों में 17 रूपये की बढ़ोतरी हो चुकी है। गत 18 दिसंबर को सीएनजी के दामों में 2 रुपये की बढ़ोतरी की गई थी। उसके बाद से लगातार अंतरराष्ट्रीय कीमतों के बढ़ने के कारण दरों में इजाफा किया जा रहा है। सीएनजी की दरों में बढ़ने का असर हर तरफ दिखाई दे रहा है।

एक तरफ जहां निजी कंपनियों ने और टैक्सी चालकों ने किराए में बढ़ोतरी कर दी है वहीं निजी वाहनों में सीएनजी का इस्तेमाल करने वाले भी मुश्किल में पड़ गए हैं। सीएनजी की तरह ही एलपीजी के दाम भी लगातार बढ़ रहे हैं। ग्रीन गैस लिमिटेड के एमडी जेपी सिंह का कहना है कि सीएनजी की खरीद और आपूर्ति की कीमतों में खासा अंतर है अंतरराष्ट्रीय कीमतों में बढ़ोतरी के कारण ही सीएनजी की दरों में बढ़ोतरी करना हमारी मजबूरी है।

पीएनजी की कीमतें भी आसमान पर: सीएनजी और एलपीजी के साथी पीएनजी यानी पाइप्ड नेचुरल गैस की दरें भी लगातार बढ़ रही हैं। इसी साल पीएनजी की दरें 12 रुपये से अधिक बढ़ चुकी हैं। गत दिसंबर में पीएनजी की दर से 30.50 रुपये प्रति क्यूबिक स्टैंडर्ड मीटर थी। आज पीएनजी करीब 50 रुपये क्यूबिक स्टैंडर्ड मीटर रसोई तक पहुंच गई है।

ऐसे बढ़े दाम

पीएनजी

18 दिसंबर :   37.50 रुपये
जनवरी :        37.50
एक अप्रैल :    45 रुपये
23 अप्रैल :     47 रुपये
21 मई          49. 80
सीएनजी

18 दिसंबर           72.50 रुपये
एक अप्रैल 2022   80.80
23 अप्रैल 2022    83.80
9 मई 2022         85.80
21 मई                87:80