25 साल से दूसरे के प्रमाणपत्रों पर की नौकरी, खुलासे के बाद शिक्षक बर्खास्त

सिद्धार्थनगर के शोहरतगढ़ में पिछले 25 वर्षों से दूसरे व्यक्ति के प्रमाणपत्रों पर नौकरी करने वाले सहायक अध्यापक राम ललित यादव को बर्खास्त कर दिया गया है। वर्तमान में वह प्रधानाध्यापक के पद पर तैनात था। बीएसए देवेंद्र कुमार पांडेय ने बुधवार को सेवा समाप्ति की कार्रवाई करते हुए एफआईआर दर्ज कराने के लिए शोहतरगढ़ के खंड शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया है।

नगरपालिका परिषद सिद्धार्थनगर के अनूपनगर निवासी राम ललित यादव की तैनाती वर्ष 1997 में शोहरतगढ़ ब्लॉक के प्राथमिक विद्यालय छतहरी में सहायक अध्यापक के पद पर हुई थी। स्पेशल टास्क फोर्स की जांच में पाया गया कि वर्तमान में शोहरतगढ़ विकास खंड के प्राथमिक विद्यालय नवीन पकड़ी में तैनात प्रधानाध्यापक के पद पर कार्यरत राम ललित यादव के मूल अभिलेख बस्ती जनपद के साऊंघाट में कंपोजिट विद्यालय खजौली में तैनात सहायक अध्यापक राम ललित यादव पुत्र हरीराम के हैं। दोनों शिक्षकों की जन्मतिथि, पिता का नाम, हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट उत्तीर्ण करने का वर्ष, पूर्णांक, प्राप्तांक आदि समान मिला। बीएसए की ओर से कई बार नोटिस भी दिया गया। स्पष्टीकरण प्राप्त न होने पर बीएसए देवेंद्र कुमार पांडेय ने बताया कि आरोपित शिक्षक राम ललित यादव को बर्खास्त करते हुए एफआईआर दर्ज कराने के लिए बीईओ शोहरतगढ़ को निर्देशित किया है।